टीम इंडिया का कप्तान हूं, बर्दाश्त नहीं करूंगा दख़ल-अंदाज़ी- धौनी
Posted on: Tuesday 23 June 2015  

महेंद्रसिंह धौनी ले साफ कर दिया है कि वो कप्‍तान हूं इस लिए टीम सिलेक्‍शन में नहीं सहूंगा किसी की दखलअंदाजी बर्दाश्त नहीं कर सकता। बांग्लादेश के हाथों वनडे सीरीज में मिली करारी हार के बाद उठ रहे सवालों के बीच टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि यदि उनके कारण सब कुछ खराब हो रहा है तो वह कप्तानी छोड़ने को तैयार हैं। टीम सिलेक्शन पर धोनी ने कहा कि टीम चयन की जिम्मेदारी कप्तान की होती है तो इसमें दखलंदाजी न करें। आप कैसे मुझे स्टुअर्ट बिन्नी को टीम में शामिल करने के लिए बोल सकते हैं। टीम सिलेक्शन मेरा अधिकार क्षेत्र है और मैं वह सब करूंगा जो टीम इंडिया के लिए अच्छा हो। रविवार रात मीरपुर में दूसरा वनडे खत्‍म होने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में धोनी ने कहा, ``मैं कभी भी कप्तान बनने की रेस में नहीं था, लेकिन यह मुझे यह जिम्मेदारी दे दी गई। अगर आप इसे (कप्तानी) मुझसे वापस लेते हैं तो भी मैं खुश रहूंगा, क्योंकि मेरे लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है देश के लिए खेलना और टीम की जीत में हिस्सा बनना।`` बता दें कि रविवार के मैच में दूसरी हार के बाद टीम इंडिया तीन मैचों की वनडे सीरीज हार गई। टीम की कप्तानी एन्जॉय कर रहे हैं? धोनी से पूछा गया कि क्या वह अभी भी टीम की कप्तानी एन्जॉय कर रहे हैं? धोनी ने कहा कि वह लीडरशिप का बोझ लिए बिना भी खेल सकते हैं। उन्‍होंने कहा, `अगर टीम इंडिया मेरी कप्तानी के कारण हार रही है तो इसे छोड़ देने में मुझे खुशी होगी।` हमेशा मुझे ही ठहराया जाता है जिम्मेदार धोनी ने कहा, ``मैं एक ऐसा व्यक्ति हूं जिसे भारतीय क्रिकेट में जो कुछ गलत होता है, उसके लिए जिम्मेदार ठहराया जाता है। हो सकता है कि यह सबकुछ मेरे कारण होता हो। यदि आप ज्यादा क्रिकेट खेलते हैं तो आपको मैदान पर अच्छे और बुरे दोनों हालात का सामना करना पड़ता है। लेकिन फिर भी मैं क्रिकेट को एन्जॉय कर रहा हूं। यदि मुझे कप्‍तानी से हटाने से टीम इंडिया अच्छा खेलने लगती है तो फिर मुझे हटने में खुशी होगी। मैं एक प्लेयर के रूप में खेलने को तैयार हूं।`` कोचिंग स्टाफ पर क्या कहा धोनी ने कहा कि अगर कोचिंग स्टाफ को लेकर आप यह पूछना चाहते हैं कि हम डंकन फ्लेचर को मिस कर रहे हैं तो यह अच्छी बात है, क्योंकि उनकी मीडिया ने ज्यादा तारीफ नहीं की है। उन्होंने बहुत मेहनत की और लंबे समय तक टीम के साथ बने रहे। उनके रहते हमने कई देशों का कठिन दौरा भी किया। लेकिन मुझे नहीं लगता कि मौजूदा सपोर्ट स्टाफ को हम ब्लेम कर सकते हैं। सारा कुछ हम प्लेयर्स पर निर्भर करता है जो फील्ड में जाते हैं और खेलते हैं। अगर आप यह कहना चाहते हैं कि हमें एक कोच की जरूरत है तो मैं इससे सहमत नहीं हूं। टीम का ख्याल रखने के लिए सपोर्ट स्टाफ के कई मेंबर्स हैं।

 
 












PHPlist Appliance - Powered by TurnKey Linux