पचास साल में भी न होगी गंगा साफ-जोशी
Posted on: Friday 05 June 2015  

वाराणसी. बीजेपी के वरिष्ठ नेता और कानपुर के सांसद मुरली मनोहर जोशी ने पीएम मोदी के ‘नमामि गंगे’ प्रोजेक्ट को निरर्थक बताया है। वाराणसी में आयोजित एक समारोह के दौरान जोशी ने कहा कि केंद्र सरकार गंगा को टुकड़ों में साफ करना चाहती है। उन्होंने कहा, ‘ऐसे तो गंगा अगले 50 साल में भी साफ नहीं हो सकती।’ जोशी ने परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के गंगा में जहाज चलाने के प्रोजेक्ट को भी अव्यावहारिक करार दिया। फिर सामने आए मोदी से मतभेद जोशी ने कहा कि मोदी सरकार का ‘नमामि गंगे’ प्रोजेक्ट निरर्थक कोशिश है क्योंकि इसमें गंगा को टुकड़ों में साफ करने का प्लान है। जोशी ने कहा कि इस तरह से गंगा को अगले 50 साल में भी साफ नहीं किया जा सकता। उन्‍होंने गंगा सफाई के लिए बनाई गई अन्‍य नीतियों को भी अनुचित ठहराया। जोशी ने यह भी कहा कि सभी लोग गंगा को साफ करने की बात तो करते हैं, लेकिन कोई भी कावेरी और सिंधु नदी के बारे में कुछ नहीं सोचता। उन्होंने कहा कि गडकरी गंगा में जहाज चलाने की बात कहते हैं लेकिन यह संभव नहीं हो पाएगा। बोले- मुझे तो कानपुर भेज दिया पिछले लोकसभा चुनाव में अपने पुराने संसदीय क्षेत्र वाराणसी से कानपुर भेजे गए जोशी ने कहा कि मुझे तो वाराणसी से कानपुर भेज दिया गया है। बता दें कि जोशी की इस पुरानी सीट से अब पीएम मोदी सांसद हैं। उन्होंने कहा, `मैंने अपनी यात्रा ऐसी नगरी से की थी, जहां शुद्ध जल था, लेकिन आज मैं वहां पहुंच गया हूं, जहां गंगा में सबसे ज्‍यादा प्रदूषण है। मुझे वाराणसी से कानपुर भेज दिया गया। अब राजनीति में प्रदूषण भी बढ़ गया है। पहले यह शुद्ध हुआ करती थी।`

गुरुवार रात सांसद मुरली मनोहर जोशी को सम्‍मानित करते लोग।

 
 












PHPlist Appliance - Powered by TurnKey Linux