(अनवर चौहान) उत्तर पूर्वी ज़िला पुलिस की इफ्तार पार्टी में मुअज़्ज़िज़ कम और पुलिस के दलालों की संख्या काफी थी। इसके बाद छापामार पत्रकारों का भी जमावड़ा था....पिछले साल की इफ्तार पार्टी के मुक़ाबले बहुत फीकी थी इस साल की पार्टी। जहां तक मेरी जानकारी है पिछले साल की इफ्तार पार्टी में इलाके का हर ज़िम्मेदार आदमी मौजूद था। लेकिन आज की महफिल में एक ऐसा आदमी जिसके बारें में पूरा जमना-पार जानता है कि ये पुलिस का दलाल है वो इस इफ्तार पार्टी का सर्वे सर्वा दिखाई पड़ा। वो डीसीपी, एसीपी के अगल-बगल नज़र आ रहा था। कर्दमपुरी का रहने वाला इशरत। बात बहुत पुरानी है मगर सच्ची है उस वक्त ये नामी-गिरामी बदमाशों के साथ रहता था...आनंद विहारी थाने की पुलिस इसे और बिट्टू नाम के लड़के को उठा कर ले गई। पुलिस ने स पर 3-डिग्री का इस्तेमाल किया। इसकी नांक से पानी चढ़ाया और पिंड़लियों पर रोलर चढ़ा दिया। लेकिन आज की तारीख़ में ये पुलिस का बहतरीन वाला दलाल है। यदि पुलिस को यक़ीन न हो तो मेरे साथ चले मैं दर्जनों दलील दिलवा दुंगा....कुछ दिन पहले ही का मामला है कि ये एक नाबालिग़ लड़की के साथ हुए बलात्कार के मामले में फैसला करवा रहा था, मामले को दबाने के लड़की के पिता को मोटी रक़म का लालच देकर मामले को दबाने का दबाव बना रहा था...लेकिन लड़की के पिता ने साफ इंकार कर दिया। लड़की के पेट में चार महीना का बच्चा था। ज्योति कॉलोनी थाने की पुलिस ने तब तक कोई मुकद़मा दर्ज नहीं किया था...जब लड़की का पिता मेरे पास पहुंचा सारा माजरा बताया....मैंने इसी न्यूज़ पोर्टल पर उसकी ख़बर लिख पुलिस के सारे पुलिस अफसर और गृहमंत्रालय के अधिकारियों के मेल कर दिया। पुलिस कमिशनर फौरन हरकत में आए और अगले दिन ही लड़की का मेडिकल करा मुकदमा दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया...आज मैंने उसी इशरत को पुलिस के आला अधिकारियों के साथ बगलगीर देखा। इस तरह के और भी पुलिस के दलाल इस पार्टी की महफिल का हिस्सा बने हुए थे। कुल मिलाकर कहूं यदि स्पेशल सीपी दीपक मिश्रा यदि इस महफिल में शरीक नहीं होते तो सारी पार्टी की भद पिट गई होती....उन्होंने चंद मिनट अपने हाथ में माइक पकड़ा....मझे हुए खिलाड़ी की तरह वो पूरी महफिल को लूट ले गए। वैसे इस पार्टी में आप पार्टी के नेता गोपाल राय, आप पार्टी के विधायक और जमनापार विकास बोर्ड़ के अध्यक्ष चौधरी फतह सिंह, विधायक भूरे खांन, जमनापार से भाजपा अकेले जीते विधायक जगदीश प्रधान और यहां के सांसद मनोज तिवारी वगेहरा शामिल हुए।

  जो शख्स फोन पर बात कर रहा वो है इशरत...एक तरफ खड़े हैं डीसीपी, और दूसरी तरफ मौजूद एडिशनल डीसीपी

दाढ़ी जिनके है ये आप पार्टी के नेता गोपाल राय हैं..