हमारी ख़बर बनी मज़ाक, टाइगर की धमकी पर जागा देश
Posted on: Friday 07 August 2015  

 (अनवर चौहान) जिस दिन याक़ूब मेनन का जनाज़ा दफनाया जा रहा था ....उसी दिन दाऊद अपने साथियों के साथ मीटिंग कर रहा था....हमने पाकिस्तान की एक उर्दू वेब साइट के हवाले से ख़बर छापी थी कि डी कंपनी ने याकूब का बदला लेने के लिए दुनिया के सबसे खतरनांक आतंकी संगठन ISIS से हाथ मिलाया जा रहा है। लेकिन हमारी खुफिया ऐजंसी नहीं जागी। इस ख़बर पर फेसबुक पर हमारा मज़ाक उड़ाया गया था। आज जब टाईगर मेनन का बयान आया है तो पूरा मीडिया जाग गया।

टाईगर मेनन के बयान को मीडिया ने कुछ इस तरह पेश किया है। 1993 में हुए मुंबई बम धमाकों के दोषी याकूब मेमन की फांसी के दिन उसके घरवालों के पास टाइगर मेमन ने फोन किया था। एक अंग्रेजी अखबार ने यह दावा किया है। टाइगर याकूब का बड़ा भाई है, जिसे अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के साथ इस हमले का मास्टरमाइंड माना जाता है। वह बीते 22 साल से फरार चल रहा है। उसके पाकिस्तान में होने की बात कही गई है। उधर, याकूब की फांसी से जुड़ी याचिका की सुनवाई करने वाले जज दीपक मिश्रा को लेटर भेजकर धमकी दी गई है। दिल्ली पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है। दीपक मिश्रा के अलावा मामले की सुनवाई करने वाले अन्य दो जजों की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है। बदला लेने की बात कही रिपोर्ट के मुताबिक, टाइगर मेमन ने घर के लैंडलाइन नंबर पर फोन किया। याकूब को फांसी दिए जाने के डेढ़ घंटे पहले यह फोन आया। मुंबई पुलिस ने इस नंबर को सर्विलांस पर लिया था। पुलिस ने टाइगर और उसकी मां के बीच हुई बातचीत को रिकॉर्ड किया। टाइगर ने मां को सांत्वना देने के बजाए बदला लेने की बात कही। पुलिस ने बातचीत की रिकॉर्डिंग में टाइगर की आवाज होने की पुष्टि की है। क्या बातचीत हुई फोन सुबह पांच बजकर 35 मिनट पर आया। इससे 40 मिनट पहले ही सुप्रीम कोर्ट ने फांसी पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था। मेमन के घर के किसी मेल मेंबर ने फोन उठाया। टाइगर ने उस शख्स को मां हनीफा को फोन देने के लिए कहा। मां ने शुरुआत में बातचीत से इनकार कर दिया, लेकिन फोन उठाने वाले शख्स ने जोर देकर कहा कि उन्हें `भाईजान` से बातचीत करनी चाहिए। इसके बाद, टाइगर ने मां से कई बार बदला लिए जाने की बात कही। टाइगर ने कहा, ``मैं उनको चुकवाऊंगा।`` हनीफा फोन पर रोने लगीं और टाइगर को हिंसा रोकने के लिए कहा। हनीफा ने कहा, ``बस हो गया। पहले इसी वजह से मेरा याकूब गया, अब और नहीं मैं देख सकती।`` इसके बाद हनीफा ने फोन वापस उस शख्स को सौंप दिया, जिसने फोन उठाया था। टाइगर ने उस शख्स से वादा किया कि उसके परिवार के आंसू बेकार नहीं जाएंगे।