चार बटियों की हत्या के बाद मां ने भी दी जान
Posted on: Thursday 04 June 2015  

राजकोट (गुजरात)। लगातार बेटी होने से परेशान एक मां ने अपनी दो बेटियों को एसिड पिला कर मार डाला और खुद भी जान दे दी। उसकी दो और बेटियां हैं। वे दोनों घर पर नहीं थी, इसलिए उनकी जान बच गई। अमरेली जिले के छतरिया गांव में यह घटना हुई। पुलिस पूछताछ में महिला के पति ने बताया कि उनकी शादी को 9 साल हो गए थे। दो बेटियों के बाद लाभूबेन (पत्‍नी) बेटा चाहती थी, लेकिन तीसरी बार भी बेटी हुई। इसके बाद से वह और अधिक डिप्रेशन में रहने लगी थी। तीन महीने पहले चौथी बेटी का जन्म होने के बाद से वह मानसिक रूप से कमजोर हो गई थी। दूध की बॉटल में एसिड भरकर पिला दिया: घटनास्थल से दूध की बॉटल मिली है, जिसमें एसिड भरा था। लाभूबेन ने दूध की बोतल में एसिड भरकर पहले दोनों बेटियों को पिलाया और इसके बाद खुद भी एसिड पी लिया। दोनों बेटियों की तुरंत मौत हो गई, जबकि महिला को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान महिला ने भी दम तोड़ दिया। वह बुधवार सुबह ही तीन महीने मायके में रहकर लौटी थी। शाम को जब उसने सात साल और तीन माह की बेटियों को एसिड पिलाया तब उसका पति काम पर गया था। अन्य दो बेटियां दादा के साथ होने के चलते बच गईं। बेटों की चाहत में हर दिन मारी जा रही हैं 2000 बेटियां देशभर में बेटों की चाहत में हर दिन 2000 बेटियां मारी जा रही हैं। या तो उन्हें गर्भ में ही मार दिया जाता है या फिर जन्म लेने के कुछ महीनों के अंदर। इन अंाकड़ों का खुलासा खुद महिला बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने अप्रैल में किया था।

 
 












PHPlist Appliance - Powered by TurnKey Linux